सुपौल के एसिएमस क्रीड़ा केंद्र में संपन्न हुआ सूर्य नमस्कार यज्ञ

0
SHARE

सुपौल : एसिएमस कोचिंग सेंटर सह क्रीडा केंद्र में सोमवार को सूर्य नमस्कार यज्ञ कार्यक्रम संपन्न हुए। इस मौके पर क्रीड़ा केंद्र से जुड़े कई शिक्षण संस्थान के सैकड़ों छात्र-छात्राओं ने सूर्य नमस्कार का अभ्यास किया।
इस अवसर पर उपस्थित क्रीड़ा भारती उत्तर बिहार प्रांत के प्रांत मंत्री अमित कुमार ठाकुर ने सूर्य नमस्कार को सभी आसनों में सर्वश्रेष्ठ आसन बताते हुए कहा एक सूर्य नमस्कार को 10 की संख्या में करते हैं। जिसमें 7 आसनों प्रणामासन, ऊर्ध्व हस्तासन, हस्त पादास, अर्ध भुजंगासन, भुजंगासन, मकरासन, पर्वतासन का अभ्यास होता है। इसे करने से सांस एवं शरीर के हर अंगों का अभ्यास होता है। बचपन से ही इसका दैनिक अभ्यास हमें हमेशा निरोग एवं शारीरिक रूप से दक्ष बनाता है।

krida bharti supaul
सूर्य नमस्कार यज्ञ में अतिथि के रूप में सुरेश कुमार सुमन, सुमन झा, क्रीडा भारती सदस्य डाक्टर सत्य प्रकाश मल्लिक, राकेशजी , एसीएमएस के निदेशक एवं क्रीडा केंद्र के व्यस्थापक एम. के. सुमन सर ने छात्र – छात्राओं को सूर्य नमस्कार की महत्ता को बताया।

LEAVE A REPLY