शोले को दो निर्माता को ठुकराने के बाद जे.पी.सिप्पी ने रचा इतिहास

0
SHARE

14 सितम्बर- जन्मतिथि

जे.पी.सिप्पी ( गोपालदास परमानन्द सिप्पी)

पटना, 14 सितंबर। जे.पी.सिप्पी के नाम से प्रसिद्ध गोपालदास परमानंद सिप्पी का जन्म 14 सितंबर 1915 को हैदराबाद के सिंध में हुआ था। वह भारतीय हिन्दी फ़िल्मों के निर्माता और निर्देशक थे। वह सीता और गीता  (1972), शान (1980), सागर (1985), राजू बन गया जेंटलमैन और उनकी अमर कृति (उनके बेटे रमेश सिप्पी के साथ) शोले (1975) जैसी कई लोकप्रिय बॉलीवुड ब्लॉकबस्टर बनाने के लिए जाने जाते हैं। जे.पी.सिप्पी और रमेश सिप्पी से पहले दो निर्माता-निर्देशक टीमों ने शोले फिल्म को बनाने से इनकार कर दिया था। इस फ़िल्म की सफ़लता का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आज फेसबुक के शोले पेज पर 10 लाख  से भी ज्यादा लाइक हैं।
जे.पी.सिप्पी को सन् 2000 में मुंबई अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार मिला था। सिप्पी 70, 80 और 90 के दशक में फिल्म एंड टीवी प्रड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया के प्रेजिडेंट भी रहे। 1968 और 1982 में उन्हें दो बार फ़िल्मफ़ेअर पुरुस्कार से सम्मानित किया गया। वह कई वर्षों तक फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया के अध्य्क्ष भी रहे।
25 दिसंबर 2007 को 92 वर्ष की आयु में उनका निधन मुंबई में हुआ।

LEAVE A REPLY