पटना के बोरिंग रोड का आदित्य नोबेल परिवार में शामिल हुआ

0
SHARE

-संजीव कुमार
पटना के बोरिंग रोड निवासी आदित्य सिंह नोबेल परिवार में शामिल हो गये हैं। 14 वर्षीय आदित्य को नोबेल परिवार द्वारा संचालित नेशनल सोसायटी आॅफ हाई स्कूल स्काॅलर्स में सदस्यता प्रदान की गई है। नोबेल परिवार द्वारा ही नोबेल पुरस्कार की स्थापना की गई थी। विश्व के मेधावी हाई स्कूल विद्यार्थियों के लिए इस परिवार ने 2002 में इस संस्था का गठन किया था। संस्था के अध्यक्ष क्लेस नोबेल ने आदित्य की प्रशंसा करते हुए कहा कि आदित्य ने अकादमिक उत्कृष्टता के इस असाधारण स्तर को प्राप्त करने के लिए अद्भुत मेहनत, बलिदान और प्रतिबद्धता दिखाई है। वे युवा विद्वानों के अनूठे समुदाय के सदस्य बने हैं। यह समुदाय भविष्य के लिए सर्वश्रेष्ठ आशा का प्रतीक है।
इस संस्था में चयन के लिए कई प्रक्रियाओं को पार करना पड़ता है। इस अंतर्राष्ट्रीय संस्था के लिए सदस्यता तभी दी जाती है जब कोई नामांकन सफल होता है। आदित्य का मनोनयन अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विख्यात संगठन डेक्सटेरिटी ग्लोबल संस्था के संस्थापक व सीसीओ शरद विवेक सागर ने किया था। शरद सागर बिहार के पहले विद्यार्थी थे जिन्हें इस संस्था का सदस्य बनने का गौरव प्राप्त हुआ था।
आदित्य ने अपनी प्रारंभिक पढ़ाई पटना के दिल्ली पब्लिक स्कूल से की है। सातवीं तक की पढ़ाई पटना से करने के बाद वे ग्वालियर स्थित सिंधिया स्कूल चले गये। अभी आदित्य सिंधिया स्कूल में कक्षा 9 के छात्र हैं। आदित्य ने ट्रेनिटि काॅलेज, लंदन से संगीत में भी विशिष्टता प्राप्त की है। वे सिंधिया स्कूल के सर्वोच्च शैक्षणिक पुरस्कार स्काॅलर्स स्कार्फ के भी विजेता रह चुके हैं।

LEAVE A REPLY