पटना में 150 लोगों ने प्लाज़्मा दान किया

0
SHARE

कोरोना से जूझ रहे गंभीर मरीजों के लिए 150 लोगों ने अबतक प्लाज़्मा दान किया है। बिहार में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार ने प्लाज़्मा दाताओं के लिए प्रोत्साहन राशि की भी घोषणा की है। देश का पहला राज्य है जहां प्लाज़्मा दाताओं को प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।
बिहार में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख से अधिक होनेवाला है। हालांकि यहां का रिकवरी रेट 66 % से अधिक है। कोरोना संक्रमितों की मृत्यु दर राष्ट्रीय औसत से चौथाई है। फिर भी कोरोना संक्रमितों में कई गंभीर स्थिति में हैं। उन्हें प्लाज़्मा की जरूरत है। पटना में 4 स्थानों पर प्लाज़्मा देने की सुविधा है। वैसे कोरोना संक्रमित मरीज प्लाज़्मा दे सकते हैं, जिन्हें कोरोना संक्रमण से स्वस्थ हुए कम से कम 28 दिन हो गए हो। उनकी 2 रिपोर्ट नेगेटिव भी आई हो।
पटना में अब तक 1355 लोग ऐसे हैं जिन्हें कोरोना से स्वस्थ हुए 28 दिन बीत गए। राज्य में यह आंकड़ा 13, 533 का है। लेकिन अभी तक सिर्फ 150 लोग ही प्लाज़्मा देने के लिए सामने आए हैं। पटना एम्स में औसतन 12 से 15 मरीज ऐसे होते हैं जिन्हें प्लाज़्मा की तत्काल जरूरत है। वहीं लगातार प्रयास के बाद 5 से 10 लोग ही प्लाज़्मा देने के लिए सामने आ रहे हैं।
पटना एम्स में अब तक 80 कोरोना मरीजों की प्लाज़्मा थेरेपी से चितस की गई जिसमें 64 मरीज पूरी तरह ठीक हो गए। कुछ ठीक होने की प्रक्रिया में हैं। ज्यादा प्लाज़्मा उपलब्ध रहने पर ज्यादा मरीनों को लाभ होगा। पटना एम्स प्लाज़्मा उपलब्धता के लिए लोगों से आगे आने के लिए लगातार आह्वान कर रहा है।
—— संजीव कुमार

LEAVE A REPLY