खेलकूद एवं योग से जीवन शक्ति बढती है : बजरंगी प्रसाद

0
SHARE

भागलपुर विभाग के शारीरिक खेलकूद प्रमुख आचार्यों की ऑनलाइन बैठक भागलपुर विभाग के विभाग प्रमुख बजरंगी प्रसाद की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई ।बैठक में भागलपुर और बाँका जिले के अन्तर्गत चलने वाले सभी शिशु मंदिर/विद्या मंदिर के शारीरिक खेलकूद प्रमुख आचार्यों ने भाग लिया ।

बजरंगी प्रसाद ने कहा कि शारीरिक खेलकूद एवं योग व्यायाम से शरीर में रक्त संचार नियमित रूप से होता है। इससे शुद्ध वायु फेफड़ों में जाती है और जीवन शक्ति बढती है ।इससे बालकों का मानसिक, शारीरिक तथा आध्यात्मिक विकास होता है ।वर्तमान समय में शारीरिक प्रमुख आचार्यों का दायित्व काफी बढ़ गया है कि अपने विद्यालय के छात्र-छात्राओं को ऑनलाइन अध्यापन के माध्यम से क्रियात्मक कार्य करने के लिए देना है जिससे उनके अंदर शारीरिक क्षमता के विकास साथ साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता का भी विकास हो।इसके लिए छात्र-छात्राओं को प्रतिदिन की दिनचर्या देनी है जिसमें डाइट चार्ट, सूर्य नमस्कार, एवं योग व्यायाम के विडियो बनाकर उन्हें भेजना है। इस प्रकार के विडियो का लाभ छात्र-छात्राओं के साथ साथ अभिभावक एवं समाज को भी मिलेगा।

भागलपुर विभाग के खेलकूद प्रमुख वीरेन्द्र किशोर राय ने कहा कि आपने समय-समय पर विद्या भारती द्वारा जो प्रशिक्षण प्राप्त किया है उसे आज के वर्तमान समय में प्रस्तुत करने का अवसर मिला है तो इसका लाभ अवश्य उठाना चाहिए। स्वयं प्रत्येक दिन योग व्यायाम का विडियो बनाकर कई विद्यालय के शारीरिक आचार्य छात्र-छात्राओं को भेज रहे हैं किन्तु यह प्रयास सबों का होना चाहिए। उन्होंने बताया कि आगामी 21 जून को योग दिवस के अवसर पर प्रांत द्वारा दिए गए निर्देश के आधार पर सभी भैया/बहन, अभिभावक बंधु एवं आचार्यगण द्वारा सामान्य दस योग, व्यायाम, आसन करने का आग्रह किया गया है तथा विडियो बनाकर भेजने का आग्रह किया गया है।

बैठक का संचालन करते हुए  सुमित रौशन ने कहा कि शारीरिक, खेलकूद एवं योग से अनेक गम्भीर रोगों का निवारण होता है ।इससे शरीर स्फूर्तिवान, क्रियाशील, लोचदार एवं गतिशील बनता है। अतः छात्र-छात्राओं को करवाने के साथ साथ स्वयं भी दिनचर्या में लाना चाहिए।

इस अवसर पर बैठक में  बजरंगी प्रसाद, वीरेन्द्र किशोर राय, शशि भूषण मिश्र, सुमित रौशन, गौतम पाठक, संजय कुमार मंडल, अशोक सिंह, आशुतोष सिंह रितेश कुमार एवं भागलपुर विभाग के समस्त खेलकूद प्रमुख आचार्य उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY