वर्तमान गृह सचिव के रहते न्याय संभव नहीं- विहिप

0
SHARE

पटना, 14 मई। विश्व हिन्दू परिषद् ने राज्य सरकार से मांग की है कि राज्य के वर्तमान गृह सचिव आमिर सुबहानी को अविलंब पद से हटाया जाये। राज्यपाल को दिये गये ज्ञापन में विश्व हिन्दू परिषद् ने राज्य में हिन्दुओं के साथ हो रहे नियमित दुव्र्यवहार को लेकर चिंता व्यक्त की है। अपने जारी बयान में विश्व हिन्दू परिषद् के राष्ट्रीय महासचिव मिलिंद परांडे ने बताया है कि राज्य में हिन्दुओं पर हमले के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। दोषी व्यक्तियों को दंडित नहीं किया जा रहा है। या फिर दोषी व्यक्तियों को दंड देने में विलंब किया जा रहा है। प्रशासन का रवैया ढीला-ढाला एवं संवेदनहीन है जैसा कि गोपालगंज के कटैया प्रखंड में रोहित जायसवाल के मामले में देखा गया। श्री परांडे ने प्रशासन के ऐसे रवैये का जिम्मेवार राज्य के गृह सचिव आमिर सुबहानी को बताया है।
गोपालगंज के कटेया थानान्र्तगत 15 वर्षीय रोहित जायसवाल के परिजनों के प्रति पुलिस के रवैये को संवेदनहीन करार दिया है। डेढ़ माह से अधिक समय बीत जाने के बावजूद मृत परिजन को खौफजदा होना काफी कुछ इशारा करता है। किशनगंज में 15 वर्षीय दलित हिन्दू लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार कर हत्या का मामला हो या बेगूसराय अनुमंडल में सरैया गांव में रामायण पढ़नेवालों को रामायण पढ़ने से रोकना, नालंदा में हिन्दू व्यवसायियों द्वारा भगवा ध्वज लगाये जाने पर मुकदमा दर्ज करना हो या सीतामढ़ी, बेगूसराय, पूर्णिया, अररिया, कटिहार, पूर्वी चंपारण इत्यादि स्थानों पर चल रहे सुनियोजित षड्यंत्र में इस्लामिक जिहादियों के अत्याचार तथा प्रशासन द्वारा उनको कहीं प्रत्यक्ष तो कहीं परोक्ष सहयोग दिखाई देता है।
जारी वक्तव्य में विश्व हिन्दू परिषद् के महासचिव ने मांग की है कि सभी अपराधियों और उनके षड्यंत्रकारियों को अविलंब गिरफ्तार कर कठोरतम दंड दिया जाये। संवेदनहीन पुलिसकर्मी व अधिकारियों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई हो। पीड़ितों को सुरक्षा व न्याय मिले तथा विदेशी घुसपैठियों को देश विरोधी व हिन्दू विरोधी गतिविधियों पर अंकुश लगाया जाये।

LEAVE A REPLY