संस्कार भारती – बच्चों में दिखा श्री कृष्ण का दूसरा रूप, पटना में संपन्न हुआ बाल कृष्ण सह सांस्कृतिक कार्यक्रम

0
SHARE

संस्कार भारती पटना इकाई द्वारा आयोजित बाल कृष्ण सह सांस्कृतिक कार्यक्रम का भव्य आयोजन पटना के नृत्य कला मंदिर में संपन्न हुआ। नन्हे-मुन्ने बच्चों से लेकर किशोरावस्था तक के बच्चों को बाल कृष्ण रूप सज्जा प्रतियोगिता में अपने बाल लीलाओं को दिखाते देखा गया। कृष्ण बाल रूपो ने प्रेक्षागृह के सभी दर्शकों का मन मोह लिया। इसके साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रम में प्रस्तुत हुआ। बालकृष्ण सजा के चार वर्गों की प्रतियोगिता हुई जिसमें कृष्ण के बहु रूपों को अपने मनमोहक तरीके से सभी प्रतिभागी दर्शकों के सामने उपस्थित हुए। प्रथम वर्ग नन्द लाल:- 0 से 23 महीने के, माखन चोर:- 2 से 5 वर्ष, बाल गोपाल:- 6 से 10 वर्ष, मुरली मनोहर:- 10वर्ष से ऊपर उपस्थित थे। सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र और उपहार प्रदान कर के पुरस्कृत किया गया।

पारंपरिक कलात्मकता और आध्यात्मिक नवसृजन के इस कार्यक्रम में निर्णायक के रूप में प. शिवजी मिश्रा (नृत्य गुरु), राजीव रंजन श्रीवास्तव (वरिष्ठ कलाकार सह कला मर्मज्ञ), प्रो0 तमाला पात्रा (नृत्य गुरु) ने बाल कृष्ण रूप सज्जा प्रतियोगिता को अपने सुधि अन्वेषण से अंतिम आयाम दिया।

sanskar bharti

कार्यक्रम में मुख्य रूप से डॉ. शांति जैन, प्रान्त के महामंत्री रोशन जी, संस्कार भारती, कुमकुम भगवती, मंत्री प्रवीर कुमार, सदस्य में राजीव रंजन, जितेंद्र कुमार चौरसिया,संतोष कुमार, कोषाध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार थे।

सम्मानित तथा विशिष्ट मानक गंगा कुमार (भा0 प्र0 से0), और अनंत शंकर (उप महाप्रबंधक भारतीय रिजर्व बैंक ) अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY