राष्ट्र के निर्माण में महिलाओं की अहम भूमिका- वंदना

0
SHARE

डुमरांव (बक्सर)। राष्ट्र के निर्माण में महिलाओं की अहम भूमिका है। महिलाओं को घरेलू कार्यों से निवृत होकर प्रत्येक दिन एक घंटा का समय राष्ट्र के उत्थान के लिए देना चाहिए। उक्त बातें राष्ट्र सेविका समिति की लक्ष्मी बाई केलकर शाखा द्वारा आयोजित राष्ट्र सेविका समिति के संस्थापिका आद्य प्रमुख संचालिका लक्ष्मी बाई केलकर की जयंती को संबोधित करते हुए नगर कार्यवाहिका वंदना कुमारी भगत ने कहीं। उन्हों ने कहा कि कल्पना किया था कि देश का उत्थान तभी होगा जब महिलाएं समाज सेवा के लिए आगे आयेगी । इसी कल्पना को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का अनुषांगिक इकाई राष्ट्र सेविका समिति की स्थापना 25 अक्टूबर 1936 की।

उन्हों ने कहा कि राष्ट्र सेविका समिति के संस्थापिका लक्ष्मी बाई केलकर का जन्म 6 जुलाई 1905 को नागपुर में हुआ था। उनका बचपन का नाम कमल था ।तब किसे पता था कि भविष्य में यह बालिका नारी जागरण का एक महान संघठन का निर्माण करेगी। मुख्य रूप से नगर कार्यवाहिका वंदना भगत आदि महिलाएं उपस्थित रहीं साथ ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नगर कार्यवाह पिकु तिवारी ,प्रो. राजेन्द्र प्रसाद, व अधिवक्ता राजीव भगत ने दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

LEAVE A REPLY