आंदोलन के बाद मजदूरों को काम करने की मिली अनुमति

0
SHARE

डालमिया डीएसपी लिमिटेड पूर्व कल्याणपुर सीमेंट लिमिटेड के पैकिंग प्लांट के सभी 79 मजदूरों को 1 जुलाई 2019 से प्रबंधन द्वारा काम पर जाने से रोक दिया गया. कल्याणपुर सीमेंट कर्मचारी संघ की और से जब इसपर संज्ञान लिया गया तो पता चला मजदूरों के आई कार्ड का वैलिडिटी समाप्त हो चुका है. जबकि दिनांक 22 जून, 2019 को ही गेट पास का वैधता समाप्त हो चुका था फिर भी मजदूरों से 30 जून, 2019 तक कार्य को कराया गया फिर अचानक 1 जुलाई को रोक दिया गया. इस घटना के बाद मजदूरों में अत्याधिक रोष व्याप्त है.

प्रबंधन के इस फैसले के विरोध में प्लांट के सभी मजदूर 2 जुलाई को हड़ताल पर चले गये. 2 घंटे काम रुकने के बाद प्रबंधन ने सभी मजदूरों को काम पर वापस बुला लिया.

मजदूरों की तरफ से यह प्रस्ताव आया कि रिंकू सिंह (महामंत्री कल्याणपुर सीमेंट कर्मचारी संघ सम्बद्ध भारतीय मजदूर संघ के नेतृत्व में वार्तालाप किया जाएगा तो कंपनी ने साफ मना कर दिया. रिंकू सिंह को अंदर नहीं जाने दिया गया. रिंकू सिंह ने मजदूर हित को देखते हुए 4 मजदूरों को चयनित कर वार्तालाप के लिए भेजा. तत्पश्चात रामकुमार बनवीर प्लांट हेड एवं एचओडी एचआर मयंक कुमार पाठक के द्वारा बताया गया कि मजदूरों के अधिकार में कोई भी कटौती नहीं की जाएगी.

रिंकू सिंह से पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि ये मजदूर 30-40 वर्षो से यहाँ कार्य कर रहे हैं. यदि प्रबंधन एवं ठेकेदार संपूर्ण पैकिंग प्लांट के मजदूरों के साथ उनके अधिकार भविष्य में यदि किसी प्रकार का कोई कटौती करते हैं अनिश्चितकालीन हड़ताल किया जाएगा.

LEAVE A REPLY