मगध विश्वविद्यालय की स्थिति लचर 50% रिजल्ट पेंडिंग

0
SHARE
मीडियाकर्मियों को संबोधित करते पप्पू वर्मा abvp छात्र नेता
मीडियाकर्मियों को संबोधित करते पप्पू वर्मा abvp छात्र नेता

पटना, 07 दिसम्बर। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, पटना महानगर द्वारा मगध विश्ववविद्यालय में शिक्षकोत्तर कर्मचारियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल से शैक्षणिक कार्यों पर बुरा असर पड़ रहा है। अभी तक स्नातक का लगभग 50 प्रतिशत परीक्षा परिणाम पेंडिग है, ऐसे छात्रों का नामांकन अभी तक किसी भी वि॰वि॰ नहीं हो पा रहा है। नांमांकण कार्य भी प्रभावित हो रहा है। स्नातक खण्ड-1 का परीक्षा भी हड़ताल के कारण पेंडिंग है, जिस कारण से सत्र का संचालन काफी लेट हो रहा है। छात्र संघ चुनाव की तिथि शीघ्र घोषित करने तथा छात्रों के मूलभूत समस्याओं से जुझ रहे आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए पटना के काॅलेज आॅफ काॅमर्स, आर्ट्स एण्ड साईंस से छात्रों का हुजूम आक्रोश मार्च करते हुए नारे लगा रहे थे। वि॰वि॰ कुलपति गद्दी छोड़ो, छात्रों के भविष्य के साथ खिलबाड़ करना बंद करो, वि॰वि॰ प्रशासन होश में आओ आगे बढ़ते हुए यह मार्च मगध वि॰वि॰ के विस्तारित शाखा कार्यालय पर एक सभा में तब्दील हो गया।
सभा को संबोधित करते हुए पटना वि॰वि॰ सिनेट सदस्य व छात्र नेता पप्पू वर्मा ने कहा कि मगध वि॰वि॰ प्रशासन द्वारा सिर्फ आश्वासन ही दिया जाता है पर किसी भी काम को धरातल पर लाने का पहल तक नहीं किया जाता है। जिस कारण आम छात्रों में आक्रोश व्याप्त है।
इसी क्रम में प्रदेश सह मंत्री सुजीत पाण्डेय व वि॰वि॰ प्रमुख विजय प्रताप ने कहा कि यह कुलपति तानाशाह हो गया है जो यह छात्रों की आवाज को दबाना चाहता है। सभी काॅलेजों में भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने में नाकामयाब साबित हुआ है। पुरा वि॰वि॰ का प्रशासनिक व्यवस्था फेल हो चुकी है। अगर इसे जल्द सुधार नहीं किया गया तो आने वाले दिनों में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा वि॰वि॰ स्तर पर एक बड़ी आंदोलन करने को बाध्य होगी।
इस क्रम में जिला संयोजक राहुल कुमार, महानगर सह मंत्री विकाश चन्द्र सिंह, अभिषेक कुशवाहा, कुन्दन सिंह, सर्वदीप आनन्द, नीतीश कुमार, अनूज मिश्रा, आनन्द सिंह, प्रियरंजन सिंह, रौशन पाण्डेय, दीपक दुवे, सतीश कुमार, मुकेश कुमार, गौतम कुमार, प्रवीण कुमार सहित दर्जनों छात्रों ने सभा को संबोधित किया।

LEAVE A REPLY